Thursday, December 1, 2022
Home उत्तराखंड भारत-पाक युद्ध की जीवंत दास्तां ‘कहानी 1971 युद्ध की‘ - लेखिका इरा...

भारत-पाक युद्ध की जीवंत दास्तां ‘कहानी 1971 युद्ध की‘ – लेखिका इरा कुकरेती की पुस्तक का लोकार्पण

भारत-पाक युद्ध की जीवंत दास्तां ‘कहानी 1971 युद्ध की‘
– लेखिका इरा कुकरेती की पुस्तक का लोकार्पण

पूर्व कर्नल राकेश कुकरेती के संस्मरण पर आधारित है पुस्तक
देहरादून। भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 के युद्ध के 50 साल पूरे हो चुके हैं। इस युद्ध में उत्तराखंड के सैकड़ों रणबांकुरों ने भाग लिया था। इस युद्ध पर आधारित पुस्तक कहानी 1971 युद्ध की, धर्मनगर से सिलहट का लोकार्पण आज किया गया। पुस्तक का लोकार्पण राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश की जनता इसलिए चैन की सांस ले रही है क्योंकि सीमा पर हमारे रणबांकुरे मुस्तैद हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड वीरभूमि है और यहां के रणबांकुरों ने देशभक्ति, कर्तव्यपरायणता, अदम्य साहस और वीरता की मिसाल कायम की है।

नवादा के कर्नल रॉक्स स्कूल में आयोजित लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए महिला आयोग अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने कहा कि कर्नल राकेश कुकरेती (रि.) ने भी भारत-पाकिस्तान के बीच हुए 1971 युद्ध में भाग लिया और उनके संस्मरणों पर यह पुस्तक रोचक ढंग से लिखी गयी है। पुस्तक में देशभक्ति के साथ ही युद्ध की विभीषिका का भी वर्णन है। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि विधायक किशोर उपाध्याय और पूर्व कर्नल अजय कोठियाल भी मौजूद थे। कर्नल कोठियाल ने भी अपने फौजी जीवन से जुड़े कई किस्से सुनाए। विधायक किशोर उपाध्याय ने पुस्तक लेखिका के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रदेश फौजियों का है और हमें गर्व है कि देवभूमि उत्तराखंड वीरभूमि भी है। देश पर जब भी संकट आता है हमारे रणबांकुरे सरहदों पर अपना सर्वाेच्च बलिदान करने के लिए अग्रिम पंक्ति में होते हैं।

साहित्यकार नीता कुकरेती ने पुस्तक का सार और उदेश्य बताया। उन्होंने कहा कि यह युद्ध पर आधारित पुस्तक है उन्होंने पुस्तक पर आधार वक्तव्य भी दिया लेखिका इरा कुकरेती ने बताया कि वह बचपन से ही फौज के प्रति आकर्षित थी और जब उनकी शादी एक फौजी अफसर से हुई तो उन्हें लगा कि फौज के विभिन्न किस्सों को कलमबद्ध करें। उनके अनुसार यह ख्वाहिश थी कि 1971 के युद्ध के संस्मरण को एक पुस्तक के तौर पर प्रस्तुत कर सकूं। बरसों की इच्छा अब पूर्ण हुई है। इसमें उन्होंने सच्ची घटनाओं को क्रमबद्ध किया है। इस मौके पर पूर्व ब्रिगेडियर ओपी चौहान ने 6 राजपूत के बारे में बताया उन्होंने बताया कि 1971 के युद्ध में बटालियन ने पहले ही दिन दो अधिकारी जे सी ओ और 17 जवानों को खो दिया था उन्होंने कहा की पुस्तक में लेखिका ने सच्ची घटनाओं का उल्लेख किया है इस दौरान कर्नल रॉक्स स्कूल स्कूल के बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए इस मौके पर पूर्व आईजी एसएस कोठियाल सुमन उपाध्याय बलूनी क्लासेस के एमडी विपिन बलूनी समाजसेवी सुभाष भट्ट राज्य आंदोलनकारी परदीप कुकरेती सुंदर श्याम कुकरेती उमाशंकर कुकरेती एडवोकेट राजेश कुकरेती पूर्व कर्नल बवाना सुरेंद्र और विजेंद्र कुकरेती आदि प्रमुख लोग मौजूद थे

RELATED ARTICLES

बुजुर्गो का मददगार हेल्पेज इंडिया समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु...

समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु राज्य कार्य योजना के अंतर्गत...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को अगस्तमुनि के कोटरी में नर्सिंग कॉलेज का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया

*रूद्रप्रयाग/देहरादून* *14 नवम्बर, 2022* मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को 20 करोड़ 44 लाख 16 हजार की लागत से विकास खंड अगस्त्यमुनि के कोठगी...

उत्तराखंड, काशीपुर में माइनिंग व्यापारी हत्याकांड में 4 शूटर्स समेत 6 गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए एसएएस नगर के गांव छत्त से उत्तराखंड के माइनिंग व्यापारी की हत्या करने वाले 2 हमलावरों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल प्रस्तावित प्रदेशव्यापी चक्का जाम को कांग्रेस पार्टी ने दिया अपना समर्थन

देहरादूनः- उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल...

बुजुर्गो का मददगार हेल्पेज इंडिया समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु...

समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु राज्य कार्य योजना के अंतर्गत...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को अगस्तमुनि के कोटरी में नर्सिंग कॉलेज का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया

*रूद्रप्रयाग/देहरादून* *14 नवम्बर, 2022* मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को 20 करोड़ 44 लाख 16 हजार की लागत से विकास खंड अगस्त्यमुनि के कोठगी...

Big breaking :-परीक्षाओ में नकल के आरोपों के बीच, अधीनस्थ आयोग ने इन युवाओं क़ो बुलाया

अधीनस्थ आयोग ने दस्तावेज सत्यापन को बुलाया नकल केस में बरी युवा नौकरी पाएंगे देहरादून| बहुचर्चित फॉरेस्ट गार्ड भर्ती नकल के मुकदमे से बरी कई...

Recent Comments