Monday, March 4, 2024
Home हेल्थ क्या डायबिटीज में पपीता खाना होता है सही ? आइए जानते है

क्या डायबिटीज में पपीता खाना होता है सही ? आइए जानते है

अगर आपको डायबिटीज है, तो आप को अपने खानपान में शामिल हर चीज़ का खास ख्याल रखना होता है, क्योंकि हमारा खानपान हमारे ब्लड शुगर लेवल (रक्त शर्करा) पर सीधा असर डालता है। ऐसे में जब फलों के सेवन की बात आती है, तो फलों की मिठास के कारण हमारे दिमाग में सब से पहला सवाल यही आता है, कि डायबिटीज में हमें कौन सा फल खाना चाहिए और कौन सा नहीं। जैसे कि बात करें पपीता के सेवन की, तो पपीते में कई गुण मौजूद होने के बावजूद भी इसकी मिठास डायबिटीज में इस के सेवन पर एक बहुत बड़ा सवाल खड़ा कर देती है। तो आइए जानते है कि क्या डायबिटीज में पपीता खाना फायदेमंद है, या नहीं और क्या पपीता ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का काम करता है?

पपीता का सेवन पाचन तंत्र और मेटाबॉल्जिम को बेहतर बनाने का काम करता है, साथ ही पपीते में फ्लेवोनाइड्स भी मौजूद होते है, जो कि ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखने में मदद करते है । 100 ग्राम पके हुए पपीते में 32 ग्राम कैलोरी, 0.6 ग्राम प्रोटीन,0.1 ग्राम वसा, 7.2 ग्राम कार्ब्स, और 2.6 ग्राम प्रोटीन होता है, इस में फाइबर की ज्यादा और चीनी क मात्रा कम होती है, जैसे कि,100 ग्राम पपीते में चीनी की मात्रा 6.9 ग्राम होती है।

डायबिटीज में पपीता खाएं या नहीं?

पपीता मीडियम ग्लाईसेमिक इंडेक्स वाला फल होता है, जिसका जीआई 60 होता है और किसी भी खाने का ग्लाईसेमिक इंडेक्स ही यह बताता है कि वह आपके खून में ग्लूकोज़ की मात्रा को कितना और कितने समय के अन्तराल बढ़ाएगा। लो ग्लाईसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ 20 से 49 के बीच होते हैं और 50 से 69 माध्यम ग्लाईसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ होते है, जबकि हाई ग्लाईसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ 70 से 100 के बीच होते है। तो पपीते का ग्लाईसेमिक इंडेक्स 60 होने से आप इसे अपनी डेली डाइट का हिस्सा बना सकते है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि पपीता पूरी तरह लो शुगर वाला फल नहीं है, इसलिए डायबिटीज में इस का सिमित मात्रा में सेवन करना बहुत ज़रूरी है।

जिन्हें डायबिटीज है, उन्हें रोज़ाना पपीते का एक कप से ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए, आप इसे अपनी डाइट में कई तरह से शामिल कर सकते है, जैसे कि आप इसे नाश्ते में खा सकते है, दिन के खाने के कुछ समय बाद खा सकते है। हालांकि इसमें कैलोरी कम होती है, लेकिन स्वाभाविक रूप से इस में कार्बनिक शुगर की मात्रा मौजूद होती है इसलिए किसी भी डायबिटीज मरीज़ को संतुलित मात्रा में ही पपीते का सेवन करना चाहिए। ध्यान रखें कि डायबिटीज के मरीज़ों को रात में पपीता नहीं खाना चाहिए क्योंकि इस समय इससे मिलने वाले ग्लुकोज़ और शुगर का उपयोग नहीं हो पाता और यह आप के शुगर लेवल को बढ़ा सकता है।

इस के साथ ही आप समय–समय पर अपने शुगर की जांच करते रहें और डायबिटीज में किसी भी चीज़ के सेवन से पहले अपने हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह ज़रूर ले।

RELATED ARTICLES

क्या ज्यादा चाय पीने से भी वजन बढ़ सकता है, जानें न्यूट्रीशियन क्या कहते हैं…

भारतीय को चाय बहुत ज्यादा पसंद होती है. इसे आप मॉर्निंग ड्रिंक कह सकते हैं. क्योंकि यहां दिन की शुरुआत एक अच्छी सी चाय...

क्या माइक्रोवेव में खाना गर्म करने से पौष्टिक तत्व हो जाते हैं खत्म, ये है सच

अगर आप भी रोजमर्रा में माइक्रोवेव यूज करते हैं तो कभी न कभी आपने ये तो सुना ही होगा कि माइक्रोवेव का गरम किया...

पैसिव स्मोकिंग से शरीर को होती हैं कई हानियां, सिगरेट पीने वालों से बनाएं दूरी

सभी जानते हैं कि धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। इसके साथ ही पैसिव स्मोकिंग (धूम्रपान करने वालों के बीच रहकर न...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

फूलदेई पर्व पर कक्षा 8वीं तक के छात्र- छात्राओं को मिले अवकाश

उत्तराखंड का लोकपर्व फूलदेई लोक परम्पराओं का वाहक देहरादून। फूलदेई पर्व पर कक्षा आठ तक वे स्टूडेंट्स के लिए अवकाश घोषित करने की मांग की।...

बदरीनाथ-केदारनाथ में जल्द शुरू होगें अस्पताल – डा. आर राजेश कुमार

चारधाम यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने में जुटा स्वास्थ्य महकमा मरीजों के इलाज में कोताही बर्दाश्त नहीं, होगी सख्त कार्रवाई- डॉ आर राजेश कुमार देहरादून।...

भारत घूमने आई स्पेन की महिला से गैंगरेप, चार लोग हिरासत में

विधानसभा में भी उठा मुद्दा विपक्ष हमलावर दुमका। झारखंड के दुमका के हंसडीहा थाना क्षेत्र में स्पेन की एक महिला के साथ गैंगरेप की वारदात...

गंग नहर में डूबा व्यक्ति , SDRF ने बचाई जान

देहरादून।  दिनाँक 02 मार्च 2024 को कलियर मार्ग सोनाली पार्क रूड़की के पास IIT के दो छात्र डूब गए थे जिसमें से एक छात्र...

Recent Comments