Thursday, December 1, 2022
Home उत्तराखंड एम्स ऋषिकेश में ” विश्व खाद्य दिवस” मनाया गया, एम्स में आये...

एम्स ऋषिकेश में ” विश्व खाद्य दिवस” मनाया गया, एम्स में आये तीमारदारों व आम नागरिकों को खाद्य दिवस के उद्देश्य के बारे में दी जानकारी ,,

ऋषिकेश-: एम्स ऋषिकेश में विश्व खाद्य दिवस मनाया गया,  जिसमें नॉन कोविड एरिया में आम नागरिकों, मरीजों, तीमारदारों को विश्व खाद्य दिवस के उद्देश्य संबंधी विस्तृत जानकारियां दी गई।

संस्थान में शनिवार को विश्व खाद्य दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बायो कैमेस्ट्री विभाग की प्रोफेसर सत्यावती राना ने इस दिवस को मनाने के उद्देश्य पर प्रकाश डाला व इसकी महत्ता बताई। कार्यक्रम में मरीज, उनके तीमारदारों, नर्सिंग व सिक्योरिटी स्टाफ के साथ ही अन्य लोगों ने भी प्रतिभाग किया। विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डा. किरन मीणा ने इस दिवस का महत्व समझाते हुए स्वस्थ रहने के लिए किस तरह के पौष्टिक आहार की आवश्यकता होती है इस बाबत मरीजों, उनके तीमारदारों व अन्य लोगों को जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि किस तरह से विभिन्न प्रकार की हरी सब्जियों, दालों व सीजनल फ्रुट्स की बैलेंस डाइट से हम जीवन में स्वस्थ रह सकते हैं। उन्होंने जोर दिया कि हमारी हरसंभव कोशिश होनी चाहिए कि हम बाजार में उपलब्ध भोजन को खाने की बजाए घर में बने भोजन का सेवन करना चाहिए।

दुनिया में भूखमरी की समस्या को मद्देनजर हमें भोजन को खराब होने से बचाने के लिए आवश्यकता अनुसार ही अपनी थाली में भोजन परोसना चाहिए। डा. मीणा ने किसी बड़ी पार्टी या समारोह में अक्सर अवशेष रहने वाले भोजन को स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से ऐसे लोगों को उपलब्ध कराने की जरूरत बताई जो लोग भूख से ग्रसित हों।

उन्होंने बताया कि खासकर विकासशील देशों में बहुत से लोग भूख से ग्रसित हैं यदि हम प्रयास करें तो अवशेष भोजन से ऐसे लोगों को निवाला उपलब्ध कराया जा सकता है। संस्थान के एनाटॉमी विभाग की एडिशनल प्रोफेसर रश्मि मल्होत्रा ने खाद्य पदार्थों की सुरक्षा, सही समय व अनुपात में लेने की महत्ता बताई। साथ ही उन्होंने अवशेष भोजन के सही निस्तारण पर भी जोर दिया।

डा. रश्मि ने बताया कि आपका आहार ही आपकी औषधि है, साथ ही उन्होंने भारतीय संस्कृति व आयुर्वेद में आहार, विहार व आचार के लिए तय नियमों व खानपान से जुड़ी प्राचीन परंपराओं का अनुपालन सुनिश्चित करने पर जोर दिया, उन्होंने बताया कि हम तभी स्वस्थ जीवन जी सकते हैं जब हम दैनिक कैलोरी के अनुसार बैलेंस डाइट एवं मानकों के आधार पर तय फूड पिरामिड के अनुसार भोजन करें।

उन्होंने बताया कि वर्तमान जीवनशैली व फास्टफूड के अत्यधिक बढ़ते चलन से हमारे शरीर पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है और हम स्वस्थ जीवन नहीं जी पा रहे हैं,लिहाजा इसके लिए जीवनशैली के साथ हमें अपने खानपान में भी बदलाव लाना होगा। अपनी भारतीय प्राचीन पद्धतियों और आधुनिक मेडिकल साइंस के समन्वय को अपनाकर ही हम स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

इस दौरान मरीजों, उनके तीमारदारों ने विशेषज्ञ चिकित्सकों के समक्ष अपनी समस्याएं रखी, चिकित्सकों ने उनकी शंकाओं का समाधान किया।

RELATED ARTICLES

बुजुर्गो का मददगार हेल्पेज इंडिया समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु...

समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु राज्य कार्य योजना के अंतर्गत...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को अगस्तमुनि के कोटरी में नर्सिंग कॉलेज का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया

*रूद्रप्रयाग/देहरादून* *14 नवम्बर, 2022* मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को 20 करोड़ 44 लाख 16 हजार की लागत से विकास खंड अगस्त्यमुनि के कोठगी...

उत्तराखंड, काशीपुर में माइनिंग व्यापारी हत्याकांड में 4 शूटर्स समेत 6 गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए एसएएस नगर के गांव छत्त से उत्तराखंड के माइनिंग व्यापारी की हत्या करने वाले 2 हमलावरों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल प्रस्तावित प्रदेशव्यापी चक्का जाम को कांग्रेस पार्टी ने दिया अपना समर्थन

देहरादूनः- उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल...

बुजुर्गो का मददगार हेल्पेज इंडिया समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु...

समाज कल्याण विभाग उत्तराखंड सरकार के सौजन्य से हेल्पेज इंडिया द्वारा देहरादून नगर के वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण हेतु राज्य कार्य योजना के अंतर्गत...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को अगस्तमुनि के कोटरी में नर्सिंग कॉलेज का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया

*रूद्रप्रयाग/देहरादून* *14 नवम्बर, 2022* मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को 20 करोड़ 44 लाख 16 हजार की लागत से विकास खंड अगस्त्यमुनि के कोठगी...

Big breaking :-परीक्षाओ में नकल के आरोपों के बीच, अधीनस्थ आयोग ने इन युवाओं क़ो बुलाया

अधीनस्थ आयोग ने दस्तावेज सत्यापन को बुलाया नकल केस में बरी युवा नौकरी पाएंगे देहरादून| बहुचर्चित फॉरेस्ट गार्ड भर्ती नकल के मुकदमे से बरी कई...

Recent Comments