Wednesday, February 8, 2023
Home देहरादून उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल...

उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल प्रस्तावित प्रदेशव्यापी चक्का जाम को कांग्रेस पार्टी ने दिया अपना समर्थन

देहरादूनः- उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि उत्तराखण्ड विक्रम ऑटो परिवहन महासंघ द्वारा अपनी महत्वपूर्ण मांगों को लेकर कल दिनांक 29 नवम्बर 2022 को पूरे प्रदेश में राज्य सरकार की परिवहन नितियों के विरोध में चक्का जाम करने का निर्णय लिया गया है। जिसको प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपना समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार की वर्तमान ऑटो विक्रम एवं डीजल चालित वाहनांे को बन्द करने से प्रदेश के हजारांे लोग बेरोजगार होने की कगार में हैं। सरकार का यह निर्णय अव्यवहारिक है। उन्होंने कहा कि सरकार 1 मार्च से सीटी बसों एवं विक्रमों को बाहर का रास्ता दिखा रही है जिन्हें क्रमशः 15 वर्ष एवं 7 वर्ष की अवधि हो चुकी है।
श्री माहरा ने कहा कि सरकार ने वर्तमान में विक्रम की अवधि 7 वर्ष एवं सीटी बसों की अवधि 15 वर्ष रखी है जो कि निराधार है। उन्होंने कहा जबकि उच्च न्यायालय के सिंगल व डबल वैंच ने सरकार के इस अव्यवहारिक निर्णय को निरस्त किया है। परन्तु सरकार उच्च न्यायालय के आदेशों का भी पालन नही कर रही है। जिससे ऑटो चालक संगठन सड़कांे पर उतरकर अपनी न्यायोचित मांगों को लेकर संघर्ष करने को मजबूर है। श्री माहरा ने कहा कि सरकार खुलेआम कानून का मखौल उड़ा रही है। उन्होंने ने कहा कि कोराना काल मेें ऑटो व सीटी बसों के मालिकों ने अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए जनता की सेवा की है तथा अधिकांश ऑटो/विक्रम/सीटी बस मालिकों ने बैंकों से ऋण लेकर वाहन खरीदे हुए हैं, वर्तमान में उन्हें किश्त चुकाने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना काल के दौरान सरकार द्वारा इन वाहन मालिकों को कोई भी सहायता नही दी गई हैं। अब जब सामान्य स्थिति है तब सरकार इस तरह का तुगलगी फरमान जारी कर अपनीे हठधर्मिता का परिचय दे रही है, जो कि अन्यायपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस वाहन मालिकों के उपर हो रहे अत्याचार का पुरजोर विरोध करती है तथा सरकार से पुरानी परिवहन नीति ही लागू करने की मांग करती है।
श्री माहरा ने कहा कि पूरे प्रदेश में वाहनों की फिटनेश के लिए केवल एक संेन्टर डोईवाला लालतप्पड में स्थापित किया गया है जो कि सरकार की 28 किमी. परिमिट नीति के खिलाफ है। वाहन मालिकांे को वाहनों की फिटनेश कराने के लिए संेटर के कई चक्कर लगाने पड़ रहे हैं होना यह चाहिए था कि सरकार को अपनी नीति के अनुरूप 28 किमी. की परिधि के अन्तर्गत ही फिटनेश संेटन स्थापित करने चाहिए थे ऐसा ना करके सरकार ने ऑटो विक्रम चालक मालिकों का मानसिक उत्पीडन किया है।

RELATED ARTICLES

देहरादून एक मकान में युवक और युवती ने इंजेक्शन लगाकर की आत्महत्या, वारदात की जांच में जुटी पुलिस

देहरादून। धर्मपुर में एक मकान में एक युवक और युवती ने आत्महत्या कर ली। दोनों के शव कमरे में पड़े मिले। घटना धर्मपुर कब्रिस्तान वाली...

राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विकास एवं जनता से जुड़े मुद्दों पर रखी अपनी बात

2025 तक उत्तराखण्ड शामिल होगा देश के अग्रणी राज्यों में देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजपुर रोड़ स्थित होटल में आयोजित राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा,,,

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि जोशीमठ में भू-धसांव के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

काश्तकारों का मुआवजा समय पर दिया जाए- सतपाल महाराज

विधानसभावार द्वितीय चरण स्टेज-2 सड़कों की हुई समीक्षा मंत्री ने की विधानसभा क्षेत्र चौबट्टाखाल में सड़कों की रिपोर्ट तलब देहरादून। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, पंचायती राज,...

पीसीएस मुख्य परीक्षा में शंकाएं होने के बावजूद भी जल्दबाजी में कराई जा रही परीक्षा- करन माहरा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने पीसीएस मुख्य परीक्षा को लेकर सरकार और राज्य लोक सेवा आयोग पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि...

आरबीआई की मौद्रिक नीति का बाजार पर रहेगा असर

मुंबई।  विदेशी बाजारों के सकारात्मक रुझान के बीच स्थानीय स्तर पर एफएमसीजी, बैंक और आईटी समूह के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत बीते सप्ताह 2.6 प्रतिशत...

देहरादून अपडेट- नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों पर अब ड्रोन से रखी जाएगी नजर, रिकार्डिंग के आधार पर किया जाएगा चालान

देहरादून। नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों पर ड्रोन से नजर रखी जाएगी। इसकी रिकार्डिंग के आधार पर इन वाहनों का चालान भी किया जाएगा।...

Recent Comments