Wednesday, February 8, 2023
Home देहरादून मुख्यमंत्री धामी ने अचूक निशाना लगाकर छोड़े तीर, तालियों की गड़गड़ाहट से...

मुख्यमंत्री धामी ने अचूक निशाना लगाकर छोड़े तीर, तालियों की गड़गड़ाहट से गुंजा पुलिस लाइन

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को पुलिस लाइन, देहरादून में 11वीं अखिल भारतीय पुलिस तीरंदाजी प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश में खेल कोटा पुनः प्रारंभ करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने विभिन्न राज्यों एवं सशस्त्र बलों से पहुंचे तीरंदाज खिलाड़ियों का स्वागत करते हुए कहा कि भारत की धरती तीरंदाजी की जननी रही है। तीरंदाजी जिसे भारतीय संस्कृति में धनुर्विद्या के नाम से जाना जाता रहा है, प्रमुख खेल होने के साथ ही युद्ध कला की एक प्राचीन विद्या भी रही है। त्रेतायुग में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम और भगवान परशुराम की धनुर्विद्या की बात करें या द्वापर युग में भीष्म, अर्जुन, कर्ण और वीर अभिमन्यु की धनुर्विद्या की बात करें, हमारा इतिहास महान योद्धाओं और वीर धनुर्धरों की वीरता और धनुर्विद्या का साक्षी रहा है। देहरादून की महान धरती तो स्वयं में महान धनुर्धर गुरु द्रोण की तपस्थली रही है। इस प्रतियोगिता का आयोजन देहरादून में होना अपने आप में गर्व का विषय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश में समृद्ध खेल संस्कृति का विकास हो रहा है जिसके परिणामस्वरूप हमारे खिलाड़ियों द्वारा विभिन्न खेलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहनीय प्रदर्शन किया जा रहा है। राज्य में खेलों को बढ़ावा देने के लिए नई खेल नीति को लागू की गई है। खेल नीति में खिलाड़ियों के उन्नयन और उनके बुनियादी सुविधाओं के लिए व्यवस्था की गई है। खेल व्यक्ति के चहुंमुखी विकास के लिए लाभदायक हैं। खेल हमें समयबद्धता, धैर्य, अनुशासन और समूह में कार्य करने की प्रेरणा भी देते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल के क्षेत्र में हमारे युवाओं द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का नाम रोशन किया जा रहा है।

पुलिस महानिदेशक श्री अशोक कुमार ने कहा कि उत्तराखण्ड में अखिल भारतीय पुलिस तीरंदाजी प्रतियोगिता का आयोजन पहली बार हो रहा है। इस आयोजन में 19 राज्यों की पुलिस टीम समेत सशस्त्र बलों को मिलाकर कुल 26 टीमों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। 14 से 19 दिसम्बर तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में कुल 316 खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं, जिनमें 196 पुरुष और 120 महिला खिलाड़ी शामिल हैं।

इस अवसर पर मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, विधायक कैंट श्रीमती सविता कपूर, उत्तराखण्ड आर्चरी एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री राजेंद्र तोमर, आयोजन सचिव श्री मुख्तार मोहसिन, पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी, राष्ट्रीय और अंतरर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

देहरादून एक मकान में युवक और युवती ने इंजेक्शन लगाकर की आत्महत्या, वारदात की जांच में जुटी पुलिस

देहरादून। धर्मपुर में एक मकान में एक युवक और युवती ने आत्महत्या कर ली। दोनों के शव कमरे में पड़े मिले। घटना धर्मपुर कब्रिस्तान वाली...

राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विकास एवं जनता से जुड़े मुद्दों पर रखी अपनी बात

2025 तक उत्तराखण्ड शामिल होगा देश के अग्रणी राज्यों में देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजपुर रोड़ स्थित होटल में आयोजित राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा,,,

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि जोशीमठ में भू-धसांव के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

काश्तकारों का मुआवजा समय पर दिया जाए- सतपाल महाराज

विधानसभावार द्वितीय चरण स्टेज-2 सड़कों की हुई समीक्षा मंत्री ने की विधानसभा क्षेत्र चौबट्टाखाल में सड़कों की रिपोर्ट तलब देहरादून। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, पंचायती राज,...

पीसीएस मुख्य परीक्षा में शंकाएं होने के बावजूद भी जल्दबाजी में कराई जा रही परीक्षा- करन माहरा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने पीसीएस मुख्य परीक्षा को लेकर सरकार और राज्य लोक सेवा आयोग पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि...

आरबीआई की मौद्रिक नीति का बाजार पर रहेगा असर

मुंबई।  विदेशी बाजारों के सकारात्मक रुझान के बीच स्थानीय स्तर पर एफएमसीजी, बैंक और आईटी समूह के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत बीते सप्ताह 2.6 प्रतिशत...

देहरादून अपडेट- नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों पर अब ड्रोन से रखी जाएगी नजर, रिकार्डिंग के आधार पर किया जाएगा चालान

देहरादून। नो पार्किंग जोन में खड़े वाहनों पर ड्रोन से नजर रखी जाएगी। इसकी रिकार्डिंग के आधार पर इन वाहनों का चालान भी किया जाएगा।...

Recent Comments