Saturday, March 2, 2024
Home Political यमकेश्वर विधानसभा सीट से वर्तमान विधायक के बाद दूसरे नम्बर के...

यमकेश्वर विधानसभा सीट से वर्तमान विधायक के बाद दूसरे नम्बर के सबसे मजबूत दावेदार महावीर प्रसाद कुकरेती, तीनों मंडलों में सबसे सशक्त प्रत्याशी

यमकेश्वरः राज्य में आचार संहिता लागू हो गयी है, अभी तक बीजेपी और कांग्रेस ने अभी तक प्रत्याशियों का चयन नहीं किया है। राज्य की 36 नम्बर की विधानसभा सीट पर अभी तक काग्रेंस और बीजेपी साथ ही आप पार्टी ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। इस सीट पर अभी तक सभी दावेदारों में संशय बना है। सूत्रों के हवाले खबर के अनुसार यमकेश्वर में बीजेपी पहले वर्तमान विधायक को ही टिकट दिया जाना तय माना जा रहा है, लेकिन स्थानीय विरोध के चलते अभी संशय बरकरार है।
पार्टी संगठन और संघ की सर्वे रिर्पोर्ट में तीन दावेदारों के नाम यमकेश्वर से भेजे गये हैं, जिनमें पहला नाम सीटींग विधायक  ऋतु खण्डूरी का है, जबकि दूसरा नाम संगठन और पूर्व के चारों चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका एवं पार्टी के संकटमोचक रहे महावीर प्रसाद कुकरेती और तीसरे नाम पूर्व विधायक बिजया बड़थ्वाल बताया जा रहा है। वर्तमान विधायक ऋतु खण्डूरी के टिकट नहीं दिये जाने की स्थिति में सबसे मजबूत दावेदार महावीर प्रसाद कुकरेती को बताया गया है।
महावीर प्रसाद कुकरेती यमकेश्वर विधानसभा के यमकेश्वर डांडामण्डल क्षेत्र के दिवोगी ग्राम सभा मरोड़ा गॉव के मूल निवासी हैं, पार्टी संगठन से लगभग 30 सालों से अधिक समय से सेवा दे रहे हैं, पूर्व में जिलाध्यक्ष पौड़ी एवं पार्टी के जिलाध्यक्ष बतौर कोटद्वार रहे। इससे पूर्व सांसद चुनाव में टिहरी प्रभारी, वर्ष 2017 में थराली से चुनाव प्रभारी, और संगठन की ओर से झारखण्ड और बंगाल, बिहार सहित कई राज्यों में चुनावों का संफल संचालन किया। यमकेश्वर विधानसभा सीट की बात की जाय तो उन्होंने बीजेपी को वहॉ सबसे मजबूत किया। बीजेपी के शुरूवाती दौर में पैदल गॉव गॉव भ्रमण कर जन जन को बीजेपी से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका रही। वहीं संघ को यमकेश्वर में स्थापित करने का श्रेय भी महावीर प्रसाद कुकरेती को जाता है।
यूपी के समय यमकेश्वर क्षेत्र लैंसडाउन विधानसभा के अन्तर्गत आता था, तात्कालीन विधायक भारत सिंह रावत के साथ दुगड्डा, द्वारीखाल से लेकर यमकेश्वर क्षेत्र और पूरे सल्ट क्षेत्र तक 52 दिन की पैदल यात्रा कर क्षेत्र की भौगोलिक परिस्थितियों से वाकिफ है। पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल भुवन चन्द्र खण्डूरी के करीबी माने जाते रहे हैं, उनके सांसद प्रतिनिधि के तौर पर क्षेत्र का भ्रमण कर बीजेपी को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है। क्षेत्र में बीजेपी संगठन के सभी कार्यकलापों में उनकी भागीदारी बढचढकर रहती है, इसलिए बीजेपी का हर कार्यकर्ता उनसे सीधा जुड़ाव रखता है। तीनों मण्डलों में उनकी मजबूत पकड़ मानी जाती है।
क्षेत्र में पार्टी संगठन के साथ साथ क्षेत्र विकास में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है, जिसमें से कौड़िया किमसार मोटर मार्ग का आंदोलन से लेकर धारकोट जुलेड़ी मोटर मार्ग का निर्माण, तालघाटी झील के लिए प्रयास के साथ ही दुग़ड्डा सिमलणा मोटर मार्ग आदि के लिए बतौर संगठन उन्होनें सरकार तक आम जन की समस्याओं को पहॅुचाने का प्रयास किया। यदि बीजेपी लोकल फॉर वोकल को तवज्जो देती है तो यमकेश्वर से सबसे मजबूत दावेदार के तौर पर महावीर प्रसाद कुकरेती सबसे आगे माने जा रहे हैं। हालांकि अभी पार्टी पहले वर्तमान सीटिंग विधायक को ही पहले तवज्जों देना चाहेगी, यदि किन्हीं कारणों से उनके नाम पर विचार नहीं किया जाता है तब महावीर प्रसाद कुकरेती सबसे मजबूत दावेदार माने जा रहे हैं।

RELATED ARTICLES

बजट में आंकड़ों की बाजीगरी को सलाम – कांग्रेस

बजट में बजट और दिशा का अभाव है - यशपाल आर्य देहरादून।  नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बजट एक असफल सरकार का बजट है। जिसने...

अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस को लगा झटका, भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री निनोंग ईरिंग

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को नार्थ ईस्ट में भी बड़ा झटका लगा है। अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस और नेशनल पीपुल्स पार्टी...

कांग्रेस और आप ने किया गठबंधन का ऐलान, जानें कहां और कितने सीटो पर तय हुई बात

नई दिल्ली। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने आज यानी शनिवार को दिल्ली में संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीट शेयरिंग का ऐलान कर दिया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सहायक समाज कल्याण अधिकारियों व छात्रावास अधीक्षकों को मिले नियुक्ति-पत्र

अपनी सेवाओं के माध्यम से अंत्योदय के सिद्धांत को पूर्ण करें - मुख्यमंत्री प्रतिभावान एवं क्षमतावान अभ्यर्थी ही परीक्षाओं में हो रहे सफल- मुख्यमंत्री देहरादून। मुख्यमंत्री...

सेब कास्तकरों का एक माह के भीतर शेष भुगतान किया जाएगा

कृषि मंत्री गणेश जोशी ने अधिकारियों को दिए निर्देश देहरादून। प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री गणेश जोशी से आज हाथीबड़कला स्थित उनके कैंप...

प्रकृति से जुड़ने का संदेश देती है पुष्प प्रदर्शनी- महाराज

राज भवन में महाराज ने किया बसंतोत्सव में प्रतिभाग देहरादून। राज भवन में बसंतोत्सव 2024 "संकल्प से सिद्धि, फूलों से समृद्धि" तीन दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी...

सीएचसी चौण्ड प्रकरण में इलाज नहीं मिलने पर कार्यवाही के निर्देश

स्वास्थ्य महानिदेशक को लापरवाह चिकित्सकों पर एक्शन लेने के निर्देश कहा, प्रत्येक अस्पताल में चिकित्सकों की लगेगी बायोमेट्रिक उपस्थिति देहरादून। टिहरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चौण्ड...

Recent Comments